मोबाइल पर मिला तीन तलाक, योगी बोले न्याय होगा

0
47
latest news in hindi

लखनऊ तीन तलाक की प्रथा की शिकार महिलाओं को सम्मान दिलवाना यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी के प्रमुख वादों में था। सोमवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दिशा में भी एक कदम बढ़ा दिया। लखीमपुर खीरी से आई एक युवती और उसके पिता से यह पता चलने पर कि पति ने फोन पर तीन बार तलाक बोलकर रिश्ता खत्म कर लिया, सीएम ने उन्हें न्याय दिलवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने खीरी पुलिस को फौरन ही मामले में जरूरी ऐक्शन लेने के निर्देश भी दिए।

‘लड़की पैदा हुई और बदला व्यवहार’
खीरी से आई सबरीन और उनके पिता छोटे मियां मेहवांगंज के रहने वाले हैं। छोटे मियां ने बताया कि दो साल पहले उन्होंने सबरीन की शादी सीतापुर के हाजी तुफैल से की थी। शुरुआत में सब ठीक चला, पर जब सबरीन को बेटी हुई तो ससुराल वालों का व्यवहार बदल गया। सास-ससुर से लेकर जेठ-जेठानी सब ताने देने लगे। इसके बाद सबरीन को मायके भेज दिया गया। लड़की अब ग्यारह महीने की हो चुकी है। पिछले हफ्ते तुफैल ने फोन पर तलाक-तलाक-तलाक बोलकर रिश्ता खत्म कर दिया। डाक से तलाकनामा भी भेज दिया। छोटे मियां ने कहा कि चुनाव में योगी और बीजेपी के वादे के आधार पर वह यहां इंसाफ की गुहार लगाने आए थे। अब सीएम ने कहा है कि न्याय मिलेगा। उन्होंने स्थानीय पुलिस को भी ऐक्शन लेने के निर्देश दिए हैं। इसलिए मंगलवार को वह जिले के एसपी से मिलकर शिकायत दर्ज करवाएंगे।

सबको दी मदद

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने आवास पर जनता दरबार में आए बहुत सारे पीड़ितों की शिकायत सुनी और तत्काल उन्हें मदद भी देने का भरोसा दिलाया। मेरठ से आए दीपक अग्रवाल ने अपनी माता के अपहरण के बारे में मुख्यमंत्री को जानकारी देते हुए उनसे मदद का अनुरोध किया तो हरदोई से आए कुलदीप ने ब्लड कैंसर के सम्बन्ध में आर्थिक सहायता दिए जाने का अनुरोध किया। लखनऊ की रहने वाली नूरजहां ने शादी अनुदान और शमीम सैफी ने वीलचेयर व आर्थिक सहायता दिए जाने का अनुरोध किया था। योगी ने सबका प्रार्थना पत्र ले लिया और कहा कि सबको न्याय मिलेगा।

इस बीच खबर है कि योगी सरकार में महिला व परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं और इस पर काम कर रहे संगठनों के सदस्यों से मुलाकात करेंगी।