भारत धर्मशाला टेस्ट 8 विकेट से जीता, सीरीज पर 2-1 से जमाया कब्जा

0
86
sports news in hindi

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को धर्मशाला टेस्ट में 8 विकेट से मात देकर बॉर्डर-गावस्कर सीरीज 2-1 से जीत ली है. सीरीज का पहला टेस्ट पुणे में खेला गया था, जहां मेहमान टीम ने 333 रनों से बाजी मारी. भारत ने बंगलुरु टेस्ट 75 रनों से जीत कर सीरीज में बराबर की. जबकि रांची टेस्ट ड्रॉ रहा था. चौथे और आखिरी टेस्ट के चौथे दिन भारत ने 106 रनों का टारगेट दो विकेट खोकर हासिल कर लिया. लोकेश राहुल ने सीरीज में छठा अर्धशतक जमाया. वे 51 रन बना कर नाबाद रहे. जबकि कप्तान अजिंक्य रहाणे 38 रन पर अविजित लौटे.सीरीज में सर्वाधिक 25 विकेट लेने वाले रवींद्र जडेजा मैन ऑफ द सीरीज रहे. धर्मशाला टेस्ट में उन्होंने कुल चार विकेट लिए और 63 रन भी बनाए. जडेजा को मैन ऑफ द मैच का भी अवॉर्ड मिला.

चौथे दिन भारत ने तेजी से हासिल किया लक्ष्य
धर्मशाला टेस्ट के चौथे दिन भारत को दो झटका लगे. मुरली विजय (8 रन) को पैट कमिंस ने मैथ्यू वेड के हाथों कैच कराया. वे अपने कल के स्कोर में दो रन ही जोड़ पाए. इसी स्कोर पर भारत को दूसरा झटका लगा. चेतेश्वर पुजारा (0) पर रन आउट हो गए. उधर, लोकेश राहुल ने नाबाद 51 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 9 चौके लगाए. कप्तान अजिंक्य रहाणे चार चौके और एक छक्के के साथ नाबाद 38 रन बनाए. उन्होंने पैट कमिंस को लगातार गेंदों पर दो छक्के और दो चौके मारे.

टीम इंडिया को मिला था 106 रनों का टारगेट
भारत को बॉर्डर-गावस्कर सीरीज जीतने के लिए 106 रनों का टारगेट मिला था. लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान के 19 रन बना लिए थे. स्टंप्स के समय लोकेश राहुल (13 रन) और मुरली विजय (6 रन) क्रीज पर थे. धर्मशाला टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया अपनी दूसरी पारी में 137 रनों पर सिमट गया. भारत की स्पिन जोड़ी आर. अश्विन और रवींद्र जडेजा ने 3-3 विकेट चटकाए. जबकि तेज गेंदबाज उमेश यादव ने भी तीन झटके देकर कंगारुओं की कमर तोड़ दी. जबकि एक विकेट भुवनेश्वर कुमार को मिला.

संक्षिप्त स्कोर
ऑस्ट्रेलिया 300 और 137 (मैक्सवेल 45, जडेजा 3-24, उमेश 3-29, अश्विन 3-29), भारत 332 (जडेजा 63, राहुल 60,पुजारा 57, लियोन 5-92) और 106 /2 रन (राहुल 51*)

भारतीय गेंदबाजों के आगे ऐसे ढेर हुई मेहमान टीम
तीसरे दिन लंच के बाद अपनी दूसरी पारी में उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहला झटका 10 रन के स्कोर पर लगा.उमेश यादव की गेंद पर वॉर्नर (6 रन) को विकेट के पीछे साहा ने लपक लिया. 31 के स्कोर पर कंगारू टीम को दूसरा झटका लगा. कप्तान स्टीव स्मिथ (17 रन) को भुवनेश्वर ने बोल्ड किया. 31 के ही स्कोर पर मैट रैनशॉ (8 रन) भी उमेश यादव की गेंद पर चलते बने. साहा ने वह कैच लिया.

मैक्सवेल ने कुछ हद तक सामना किया
चौथे विकेट के लिए ग्लेन मैक्सवेल और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 56 रन जोड़े. आर. अश्विन ने हैंड्सकॉम्ब (18 रन) को अपना शिकार बनाया. उसी के बाद 92 के स्कोर पर रवींद्र जडेजा ने अपनी फिरकी चलाई और शॉन मार्श (1 रन) को चेतेश्वर पुजारा ने लपक लिया. 106 के स्कोर पर मैक्सवेल 45 रन बना अश्विन का शिकार हुए.

पेस और फिरकी का चला जादू
121 के स्कोर पर कंगारुओं को 7वां झटका लगा. जडेजा ने पैट कमिंस (12 रन ) को लौटाया, रहाणे ने कैच पकड़ा. इसी स्कोर पर स्टीव ओकीफे (0) को जडेजा ने पुजारा के हाथों कैच करा वापस भेजा. ऑस्ट्रेलिया को यह आठवां झटका लगा. उमेश यादव ने 122 के स्कोर पर कंगारुओं को 9वां झटका दिया. नाथन लियोन (0 ) को मुरली विजय ने लपका. 137 के स्कोर पर आखिरी झटका अश्विन ने दिया, जब हेजलवुड (0) एलबीडब्ल्यू हुए. जबकि मैथ्यू वेड 25 रन बनाकर नाबाद रहे.