लिंकन के इस सूत्र को रखें याद, बन जाएं लोकप्रिय

0
34

अमरीका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन दास प्रथा खत्म करने जैसे बड़े-बड़े कामों के लिए जाने जाते हैं। एक बार वह कांग्रेस में हिस्सा लेने के लिए जा रहे थे, तभी रास्ते में उन्होंने एक असहाय सूअर को गहरे कीचड़ में धंसा देखा। उसकी पीड़ा ने उन्हें अधीर कर दिया। उन्होंने चालक से तुरंत गाड़ी रोकने के लिए कहा और जानवर को बाहर निकालने के लिए गाड़ी से उतरने लगे।

यह देखकर चालक ने राष्ट्रपति से कहा, ‘‘आप जरूरी काम से कांग्रेस जा रहे हैं। ऐसा मत कीजिए, आपके कपड़े गंदे हो जाएंगे।’’

इस पर लिंकन ने जवाब दिया, ‘‘सूअर का जीवन मेरे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है।’’

लेकिन उनकी इस बात से चालक सहमत नहीं हुआ और बोला, ‘‘आप रहने दीजिए। मैं उस जानवर को निकालता हूं।’’

ऐसा कह कर वह कीचड़ से सूअर को बाहर निकालने की कोशिश करने लगा। कीचड़ बहुत ज्यादा था और सूअर उसमें से निकल नहीं पा रहा था। अब लिंकन से रहा नहीं गया और वह भी कीचड़ में उतर पड़े। राष्ट्रपति और चालक की बहुत कोशिशों के बाद ही सूअर बाहर निकल सका। इस मशक्कत में लिंकन के सारे कपड़े कीचड़ से सन गए। चालक ने उनसे वापस घर चलकर कपड़े बदलने का निवेदन किया लेकिन लिंकन बोले, ‘‘कांग्रेस में समय से पहुंचना ज्यादा जरूरी है।’’

वह कांग्रेस पहुंचे तो सभी उनकी हालत देखकर हैरान थे। जब यह पता लगा कि लिंकन ने किस तरह असहाय जानवर की रक्षा की तो क्या विरोधी और क्या समर्थक सभी उनके मुरीद हो गए। एक छोटे-से किसान के बेटे और अमरीका के सबसे लोकप्रिय राष्ट्रपति लिंकन की ख्याति का मूल था- उदारता और दूसरों की सहायता करने की प्रवृत्ति। लिंकन के इस सूत्र को याद रखा जाए तो हर कोई लोकप्रियता प्राप्त कर सकता है।

Facebook और Twitter पर फॉलो करें

LEAVE A REPLY