पुण्यतिथि विशेष: हिंदी सिनेमा का वो कलाकार जिनकी मौत के बाद रिलीज हुईं थी 10 फिल्में

नई दिल्ली: हिंदी सिनेमा के बेहतरीन कलाकारों में से एक संजीव कुमार भले ही 1985 में हम सबको हमेशा हमेशा के लिए अलविदा कह गए हों लेकिन बहुत काम लोगो ये जानते है की उनकी मृत्यू के बाद उनकी 10 फिल्में रिलीज हुईं थीं.बॉलीवुड जगत में अभिनेता संजीव कुमार के अभिनय के लोग आज भी दीवाने हैं|

उन्होंने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत 1960 में की थी. हिंदी सिनेमा में कई सारी फिल्मों में लाजवाब अभिनय के लिए मशहूर संजीव कुमार का निधन 6 नवंबर 1985 को हुआ था. आज उनकी पुण्यतिथि है. बहुत कम लोग जानते होंगे की उनका असली नाम हरीहर जेठालाल जरीवाला था और 22 साल की उम्र में ही बड़े पर्दे पर ओल्ड मैंन का किरदार निभाया था. उन्हें 1970 में फिल्म ‘खिलोना’ से पहचान मिली थी.

इसके बाद संजीव कुमार जी कई फिल्मों में दिखाई दिए. उन्होंने 1973 में हेमा मालिनी को शादी के लिए प्रस्ताव भी दिया था लेकिन हेमा ने उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. हेमा मालिनी के बाद उनका नाम अभिनेत्री सुल्क्षणा पंडित के साथ जुड़ा था लेकिन उन्होंने किसी से भी शादी नहीं की. उनको पहली बार 1976 में दिल का दौरा आया था. इसके बाद 1985 में गंभीर दिल का दौरा पड़ने से उनकी मृत्यू हो गई. उस वक्त वह केवल 47 साल के थे.

आप सब ने हिंदी फिल्म शोले जरूर देखी होगी उसमे ठाकुर का रोले निभाने वाले संजीव कुमार ही थे इसके अलावा उन्होंने ‘सीता और गीता’, ‘मनचली’, ‘आप की कसम’ जैसी हिंदी फिल्मों में भी काम किया. संजीव कपूर ने बॉलीवुड के अलावा तमिल, तेलुगु, सिंधी, मराठी, पंजाबी और गुजराती फिल्मों में भी काम किया. दो बार राष्ट्रीय पुरुस्कार से भी सम्मानित किए जा चुके हैं

संजीव कुमार की मृत्यू के बाद दस फिल्में रिलीज हुईं थीं.आखिरी फिल्म 1993 में “प्रोफेसर की पड़ोसन” रिलीज हुई थी.

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए न्यूज़टाइगर  के Facebook पेज को लाइक करें